sad poetry in hindi on love

sad poetry in hindi on love | sad poetry in hindi | बड़ा ही पुराना ज़ख्म लगता है

sad poetry in hindi on love

बड़ा ही पुराना ज़ख्म लगता है

बड़ा ही पुराना ज़ख्म लगता है
पर अभी भी हरा हरदम लगता है

दिया लगता है किसी अपने का ये
इसलिए काफी गहरा असर लगता है

जिसको पाने के लिए खोया सब कुछ
उस पर तो रोना भी बेअसर लगता है

भुलाना आसान नहीं होता किसी को
जिंदगी का एक पूरा सफर लगता है

लग जाती है कमाई उम्रभर की
इक घर बनाने मे कितना यत्न लगता है

बरसों सिचना पड़ता है दोस्तों
फिर जाकर एक फलदार शजर लगता है

sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi
sad poetry in hindi on love
Share With :