sad poetry in hindi

sad poetry in hindi on love | sad poetry in hindi | कितना खूबसूरत आज मंजर आ गया

sad poetry in hindi on love

कितना खूबसूरत आज मंजर आ गया

कितना खूबसूरत आज मंजर आ गया
जैसे ही सामने मेरे,मेरा सनम आ गया

उसको मुस्कुराता हुआ देखकर मानो
सारी कायनात का प्यार मेरे अंदर आ गया

आज चार कदमों की दूरी ऐसे लग रही है
जैसे हमारे दरमियां मीलों का सफर आ गया

तेरी आंख से बह रहे आंसू के एक एक करते में
मेरे लिए मोहब्बत का पूरा समंदर आ गया

तेरी गोद में सर रखकर आज ऐसा लगा
जैसे किसी भटके हुए मुसाफिर का घर आ गया

एक अरसा गुजारा है हमने जुदाई में जानां
लगता है आज हमारे मिलन का वक्त आ गया

sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi
sad poetry in hindi on love
Share With :