sad poetry in hindi

sad poetry in hindi on love | sad poetry in hindi | ये इश्क़ इतना सरल नही

sad poetry in hindi on love

ये इश्क़ इतना सरल नही

ये इश्क़ इतना सरल नही
ये कुछ दिनों का सफर नही
गुजरा है जो इन रास्तों से होकर
आज तक उनकी कोई खबर नहीं
ये इश्क़ इतना सरल नही
बिखरते है यहां कदम कदम पर अरमान
टूटते है यहां पल पल ख्वाब
होती है यहां दिन रात आसुओं की बरसात
यहां पांव रखने के बाद कोई अगर मगर नही
बिल्कुल भी आसन ये डगर नही
ये इश्क़ इतना सरल नही
पड़ जाते है दिलों पर छाले
हो जाते है पागल दीवाने
पड़ते है लोगो के पत्थर खाने
यहां प्यार करने वालो की कोई कदर नहीं
यहां उनका कोई घर नहीं
ये इश्क़ इतना सरल नही

sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi
sad poetry in hindi on love
Share With :