sad poetry in hindi

sad poetry in hindi on love | sad poetry in hindi | कभी कभी तो मिलने आ जाया करो

sad poetry in hindi on love

कभी कभी तो मिलने आ जाया करो

कभी कभी तो मिलने आ जाया करो
कुछ अपनी कहो, कुछ मेरी सुनकर जाया करो
रखे है खुले दिल के दरवाज़े तेरे लिए
कभी कभी तो उसको खटखटाया करो

कभी तो आकर समेटों मेरा बिखरा कमरा
कभी तो हक़ मुझपर तुम जताया करो
जो लिखी है कविताएं तेरे लिए मैने
कभी कभी तो उनको गुनगुनाया करो

कभी रूठा करो मुझसे तुम जानां
तो कभी तुम मुझको मनाया करो
बात बिछड़ने की करके तुम
यूं मुझको ना तड़पाया करो

निकाला करो कुछ वक्त मेरे लिए भी
कुछ सुकून के पल मेरे साथ भी बिताया करो
ज्यादा कुछ नही मांगता तुम से
बस हफ्ते में एकबार मिलने आ जाया करो

sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi
sad poetry in hindi on love
Share With :