sad poetry in hindi

sad poetry in hindi on love | sad poetry in hindi | उसने अपना बनाने की कभी कोशिश नही की

sad poetry in hindi on love

उसने अपना बनाने की कभी कोशिश नही की

उसने अपना बनाने की कभी कोशिश नही की
हमने भी पास जाने की कभी कोशिश नही की
उसने बनाकर रखी हमेशा दूरियां दरमिया
हमने भी मिटाने की कभी कोशिश नही की

देखकर उसको खुश अपनी नई दुनिया में आज
हमने भी कुछ याद दिलाने की कभी कोशिश नही की
वो जब भी मिलता था चुराता था नजरे हमसे
हमने भी फिर सामने आने की कभी कोशिश नही की

कुछ गलतफहमियां आ गई थी हमारे बीच में
दोनो ने ही सुलझाने की कभी कोशिश नही की
वो छुपाता रहा अपने आंसुओं को हमेशा हमसे
हमने भी अपने जख्म दिखाने की कभी कोशिश नही की

उसने बनाकर रखी हमेशा दूरियां दरमिया
हमने भी मिटाने की कभी कोशिश नही की

sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi
sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi on love

Usane Apana Banaane Kee Kabhee Koshish Nahee Kee
Hamane Bhee Paas Jaane Kee Kabhee Koshish Nahee Kee
Usane Banaakar Rakhee Hamesha Dooriyaan Daramiya
Hamane Bhee Mitaane Kee Kabhee Koshish Nahee Kee

Dekhakar Usako Khush Apanee Naee Duniya Mein Aaj
Hamane Bhee Kuchh Yaad Dilaane Kee Kabhee Koshish Nahee Kee
Vo Jab Bhee Milata Tha Churaata Tha Najare Hamase
Hamane Bhee Phir Saamane Aane Kee Kabhee Koshish Nahee Kee

Kuchh Galataphahamiyaan Aa Gaee Thee Hamaare Beech Mein
Dono Ne Hee Sulajhaane Kee Kabhee Koshish Nahee Kee
Vo Chhupaata Raha Apane Aansuon Ko Hamesha Hamase
Hamane Bhee Apane Jakhm Dikhaane Kee Kabhee Koshish Nahee Kee

Usane Banaakar Rakhee Hamesha Dooriyaan Daramiya
Hamane Bhee Mitaane Kee Kabhee Koshish Nahee Kee

Share With :