sad poetry in hindi

sad poetry in hindi on love | sad poetry in hindi | तन्हाइयां मुझे गले लगाने लगी है

sad poetry in hindi on love

तन्हाइयां मुझे गले लगाने लगी है

तन्हाइयां मुझे गले लगाने लगी है
तेरी उदासी जश्न मनाने लगी है
मैं डूब रहा हूं अपने ही अश्कों मे
आंखे मेरी दरिया बहाने लगी है
दिल भागता है तेरी तरफ
धड़कने अपनी चलाने लगी है
जब से मैंने छोड़ा है लिखना
तब से तेरी यादें गुनगुनाने लगी है
महफीले काटने लगी है मुझको
बहारे मिलन की सताने लगी है
दिन के उजाले से डर लगता है
राते हिज़्र की सुकून पहुंचने लगी है
मैं डूब रहा हूं अपने ही अश्कों मे
आंखे मेरी दरिया बहाने लगी है

sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi
sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi on love

Tanhaiyaan Mujhe Gale Lagaane Lagee Hai
Teree Udaasee Jashn Manaane Lagee Hai
Main Doob Raha Hoon Apane Hee Ashkon Me
Aankhe Meree Dariya Bahaane Lagee Hai
Dil Bhaagata Hai Teree Taraph
Dhadakane Apanee Chalaane Lagee Hai
Jab Se Mainne Chhoda Hai Likhana
Tab Se Teree Yaaden Gunagunaane Lagee Hai
Mahapheele Kaatane Lagee Hai Mujhako
Bahaare Milan Kee Sataane Lagee Hai
Din Ke Ujaale Se Dar Lagata Hai
Raate Hizr Kee Sukoon Pahunchane Lagee Hai
Main Doob Raha Hoon Apane Hee Ashkon Me
Aankhe Meree Dariya Bahaane Lagee Hai

Share With :