hindi shayari new

sad poetry in hindi on love | sad poetry in hindi | तेरी यादें लिपटी रही तेरे दीवाने से

sad poetry in hindi on love

तेरी यादें लिपटी रही तेरे दीवाने से

रातभर आवाजे आती रही मयखाने से
तेरी यादें लिपटी रही तेरे दीवाने से
साकी मुझे इतनी पिलाओ की सांसे थम जाए
शायद ये दर्द खत्म हो जाए मेरे मर जाने से
जिंदगी बनाना चाहता था उसको मैं अपनी
सच कब होता है यहां, कुछ भी चाहने से
उसके हुस्न मे आग थी आग दोस्तों
इसलिए भी उसने मुझे दूर रखा पास आने से
बड़ा समझाया सबने, अंजाम आशिकों का बताया सबने
पर जब तलब यार की उठी तो कहा रुक पाया मैं किसी के समझने से
मुरझा गए है फूल, उझड़ गया वो बाग जो मोहब्बत मे खिला था
अब तो बस तन्हाईयाँ रह गई है और लगने लगे है हम वीराने से
रातभर आवाजे आती रही मयखाने से
तेरी यादें लिपटी रही दीवाने से

sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi
sad poetry in hindi on love
sad poetry in hindi on love

Raatabhar Aavaaje Aatee Rahee Mayakhaane Se
Teree Yaaden Lipatee Rahee Tere Deevaane Se
Saakee Mujhe Itanee Pilao Kee Saanse Tham Jae
Shaayad Ye Dard Khatm Ho Jae Mere Mar Jaane Se
Jindagee Banaana Chaahata Tha Usako Main Apanee
Sach Kab Hota Hai Yahaan, Kuchh Bhee Chaahane Se
Usake Husn Me Aag Thee Aag Doston
Isalie Bhee Usane Mujhe Door Rakha Paas Aane Se
Bada Samajhaaya Sabane, Anjaam Aashikon Ka Bataaya Sabane
Par Jab Talab Yaar Kee Uthee To Kaha Ruk Paaya Main Kisee Ke Samajhane Se
Murajha Gae Hai Phool, Ujhad Gaya Vo Baag Jo Mohabbat Me Khila Tha
Ab To Bas Tanhaeeyaan Rah Gaee Hai Aur Lagane Lage Hai Ham Veeraane Se
Raatabhar Aavaaje Aatee Rahee Mayakhaane Se
Teree Yaaden Lipatee Rahee Deevaane Se

Share With :