hindi shayari new

images of sad shayari in hindi | hindi shayari new | मैं एक ज़ख्म नासूर हूं

images of sad shayari in hindi

मैं एक ज़ख्म नासूर हूं

मैं एक ज़ख्म नासूर हूं
मैं किस्मत के हाथों मजबूर हूं
मैं बदुआ हूं किसी अपने की
मैं इश्क़ से बेनूर हूं

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

उसने अगर मेरी कभी ख्वाहिश नही की
तो मैंने भी कभी उससे गुज़ारिश नही की
वो हाथ छुड़ाकर जाना चाहता था मेरा
मैंने भी जाने दिया, उसे रोकने की कोशिश नही की

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

किस से कहूं आज मैं अपना गम
किस किस से छुपाऊं मैं आंखे नम
हो रही है सावन की पहली बारिश बाहर
और मेरे अंदर लगी हुई है अगन

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

अब मेरे चेहरे पर वो पहले वाली खुशी नहीं मिलेगी
तुझे देखकर जो खिलती थी वो हसीं नहीं खिलेगी
अब नही सजदा करेगी मेरी आंखे झुककर तुझको
मेरी मोहोब्बत अब तेरे पैरों की जंजीर नही बनेगी

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi
Share With :