hindi shayari new

images of sad shayari in hindi | hindi shayari new | फूट पड़े खुशबू के फव्वारे

images of sad shayari in hindi

फूट पड़े खुशबू के फव्वारे

उसके हुस्न के ताप से महफिल की गर्मी बढ़ती जाती है
फूट पड़े खुशबू के फव्वारे हाथ जिस पर रखती जाती है

Usake Husn Ke Taap Se Mahaphil Kee Garmee Badhatee Jaatee Hai
Phoot Pade Khushaboo Ke Phavvaare Haath Jis Par Rakhatee Jaatee Hai

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

लिए है सात रंग मैंने उधार इंद्रधनुष से
उसको बिठाओ मेरे सामने तस्वीर बनाने से पहले
कर लो सब अपनी आँखें बंद इस महफिल में
घूंघट मेरे महबूब का अपने चेहरे से उठाने से पहले

Lie Hai Saat Rang Mainne Udhaar Indradhanush Se
Usako Bithao Mere Saamane Tasveer Banaane Se Pahale
Kar Lo Sab Apanee Aankhen Band Is Mahaphil Mein
Ghoonghat Mere Mahaboob Ka Apane Chehare Se Uthaane Se Pahale

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

भीग जाते है रोज रात को तकिया मेरे
जो बुला सके उसको वापिस ऐसी कोई कसम नही
रिस रहे है हर पल दिन रात मेरे जख्म
लगाने के लिए उन पर कोई मरहम नही

Bheeg Jaate Hai Roj Raat Ko Takiya Mere
Jo Bula Sake Usako Vaapis Aisee Koee Kasam Nahee
Ris Rahe Hai Har Pal Din Raat Mere Jakhm
Lagaane Ke Lie Un Par Koee Maraham Nahee

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

कौन चाहता है ईलाज अपने दिल का
तेरे इश्क़ मे हम बीमार सही
नही रखते हम ख्वाहिश जन्नत की जानां
तेरे गम से ये दिल आबाद सही

Kaun Chaahata Hai Eelaaj Apane Dil Ka
Tere Ishq Me Ham Beemaar Sahee
Nahee Rakhate Ham Khvaahish Jannat Kee Jaanaan
Tere Gam Se Ye Dil Aabaad Sahee

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi
Share With :