hindi shayari new

images of sad shayari in hindi | hindi shayari new | लौट जाते है वापिस पतझड़ में परिंदे तमाम

images of sad shayari in hindi

लौट जाते है वापिस पतझड़ में परिंदे तमाम

लौट जाते है वापिस पतझड़ में परिंदे तमाम
रह जाती है बाद में सहरा में खामोशी तमाम
होने के लिए एक समंदर का जैसे ही एक नदी
मिटा देती है अपना वजूद तमाम

Laut Jaate Hai Vaapis Patajhad Mein Parinde Tamaam
Rah Jaatee Hai Baad Mein Sahara Mein Khaamoshee Tamaam
Hone Ke Lie Ek Samandar Ka Jaise Hee Ek Nadee
Mita Detee Hai Apana Vajood Tamaam

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

मैं जितनी बार भी उसे देखू, हर बार नया लगे
उसके जैसा मुझे खुबसूरत कोई दूसरा ना लगे
वो मुझमें दिखाई देने लगा है, लोग कहते है
जिस्म मेरा हो गया हो कोई आईना अब ऐसा लगे

Main Jitanee Baar Bhee Use Dekhoo, Har Baar Naya Lage
Usake Jaisa Mujhe Khubasoorat Koee Doosara Na Lage
Vo Mujhamen Dikhaee Dene Laga Hai, Log Kahate Hai
Jism Mera Ho Gaya Ho Koee Aaeena Ab Aisa Lage

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

मैं रास्तों पे अपने निशान बनाता चला गया
मैं दुनियां को अपना दर्द सुनाता चला गया
बनाकर जिसने पहले अपना, फिर तबाह किया
मैं उस बेवफ़ा की तस्वीर सबको दिखाता चला गया

Main Raaston Pe Apane Nishaan Banaata Chala Gaya
Main Duniyaan Ko Apana Dard Sunaata Chala Gaya
Banaakar Jisane Pahale Apana, Phir Tabaah Kiya
Main Us Bevafa Kee Tasveer Sabako Dikhaata Chala Gaya

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi

क्यूं ना दुनियां के रस्मों रिवाज़ों से जुदा होकर मिले
मिलता ना हो कोई जहां, हम उन रास्तों से होकर मिले
जिस्म को भूख रहती है, हमेशा जिस्म की
क्यूं ना आज हम जिस्म छोड़कर, रूह होकर मिले

Kyoon Na Duniyaan Ke Rasmon Rivaazon Se Juda Hokar Mile
Milata Na Ho Koee Jahaan, Ham Un Raaston Se Hokar Mile
Jism Ko Bhookh Rahatee Hai, Hamesha Jism Kee
Kyoon Na Aaj Ham Jism Chhodakar, Rooh Hokar Mile

hindi shayari new
images of sad shayari in hindi
Share With :